This page uses Javascript. Your browser either doesn't support Javascript or you have it turned off. To see this page as it is meant to appear please use a Javascript enabled browser.

ई-नागरिक | सिटिजन चार्टर | अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ विभाग, उत्तर प्रदेश शासन, भारत सरकार की आधिकारिक वेबसाइट

विभाग की मुख्य कार्य प्रणाली

निदेशालय के नियोजन कार्य

छात्रवृत्ति योजना

दशमेत्तर छात्रवृत्ति योजना

अल्पसंख्यक समूह के कक्षा 1 से 10 तक के छात्रों हेतु छात्रवृत्ति योजना का आरंभ वर्ष 1995-96 में हुआ जिसके अन्तर्गत वे छात्र जिनके अभिभावक “गरीबी की रेखा से नीचे” की श्रेणी में आते हैं को मासिक-वार्षिक आधार पर 2004-05 की निम्नलिखित सारणी के आधार पर छात्रवृत्ति दी जाती है

क्रम संख्या कक्षा दर
    मासिक वार्षिक
  कक्षा 1 से 5 रू॰ 25/- रू॰ 300/-
  कक्षा 6 से 8 रू॰ 40/- रू॰480/-
  कक्षा 9 से 10 रू॰60/- रू॰720/-

शक्ति के विकेन्द्रीकरण के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा वर्ष 1999-2000 में ग्रामीण क्षेत्र में कक्षा 1 से 8 तक छात्रवृत्ति देने का अधिकार पंचायती राज संस्थाओं को दिया गया । इस योजनान्तर्गत ग्राम पंचायतों के खाते में सीधे तौर पर छात्रवृत्ति का आवंटित धन अंतरित कर दिया जाता है तथा पंचायत खुली सभा में यह धन वितरित करती है ।

यह धन कक्षा 1 से 8 के विद्यार्थियों को नगद राशि के रूप में दिया जाता है तथा वर्तमान समय में कक्षा 9 से 10 के विद्यार्थियों को बैंक द्वारा दिया जाता है । यह धनराशि ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायतों द्वारा ग्राम निधि खात-III में जमा कर दी जाती है जबकि नगरीय क्षेत्रों में यह राशि विद्यालयों के संयुक्त खाते में आती है।

वित्तीय वर्ष 2003-2004 हेतु इस योजना में आवंटित धनराशि 11473.38 लाख रूपये थी । वर्ष 2004-2005 में इस धनराशि से अल्पसंख्यक समुदाय के 3320135 विद्यार्थी लाभान्वित हुए जिस हेतु आवंटित धनराशि 11473.28 लाख रूपए थी । रुपए 10150.00 लाख के धनराशि वर्ष 2005-06 में प्रथम अंशिका के रूप में निर्गत की गई थी तथा द्वितीय अंशिका के रूप में 1822.21 लाख रूपए निर्गत हुए । इस वित्तीय वर्ष की कुल निर्गत धनराशि रूपए 11972.21 लाख थी । जनवरी 2006 तक ग्राम पंचायतों/विद्यालयों के संयुक्त खातों में 8424.89 लाख रूपए की धनराशि अंतरित की जा चुकी थी तथा 52150 विद्यालय इस सुविधा से लाभान्वित हुए । 8012.24 लाख की धनराशि से अल्प संख्यक समुदाय के 201246 विद्यार्थी लाभान्वित हुए ।

अधिसूचना संख्या 2690/52-3-2004, में अधिसूचित विवरण के अनुसार अक्तूबर, 2005 तक पिछड़ी जाति कल्याण विभाग अल्पसंख्यक व पिछड़ी जाति के विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति हेतु धनराशि उपलब्ध करवाएगा । उक्त तथ्य दिनांक 16.10.2004 के शासनादेश में वर्णित है।

यह शासनादेश वित्तीय वर्ष 2005-06 में पूर्णत: प्रभावी था तथा ये देखा गया कि सामान्य अल्पसंख्यक समुदाय के विद्यार्थी कम थे अत: इस उद्देश्य हेतु धनराशि में कमी करने की मांग की गई थी । नए वित्त वर्ष 2006-07 हेतु नया प्रस्ताव प्राप्त किया गया । वित्तीय वर्ष 2006-2007 की कुल राशि के निर्गमन में प्रथम चरण में रूपए 7500.00 लाख तथा द्वितीय चरण में रुपए 1822.00 लाख निर्गत किए जाएंगे । इस वित्त वर्ष की कुल धनराशि 9322.00 है तथा इस प्रस्ताव से अल्पसंख्यक समुदाय के 2575196 विद्यार्थी लाभान्वित होंगे ।